भारत में बसों के लिए गडकरी की नई योजना | यात्रियों के लिए बस बनाने के नए मानकों को मंजूरी दी गई


नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
करिश्मा ने कहा- इससे बस में यात्रा करने वाले लोगों को सुविधा और आराम का एहसास होगा।  (फोटो) - दैनिक भास्कर

करिश्मा ने कहा- इससे बस में यात्रा करने वाले लोगों को सुविधा और आराम का एहसास होगा। (फ़ॉलो फोटो)

देश में शेयरिंग बस क्रिएटर्स को लेकर सेंट्रल रोड एवं ट्रांसपोर्टेशन मिनिस्ट्री के ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री ने शुक्रवार को चिंता जताई। उन्होंने अपने एक्स अकाउंट पर नया प्लान शेयर करते हुए लिखा- भारत में बस की बॉडी की क्वालिटी को बढ़ाना जरूरी है। इसके लिए मैंने भारत-एनसीएपी के तहत नए मानकों को अपनी मंजूरी दे दी है।

उन्होंने बताया कि ये नए मानक ओरिजिनल इक्विपमेंट मैन्युक्चर्स (ओईएम) और बस बॉडी बनाने वाली कंपनियां, दोनों एक समान रूप से लागू होंगी। हालाँकि मानक में क्या बदलाव किया गया है इसकी अभी जानकारी नहीं दी गयी है।

बदलाव से बस यात्रियों को सुविधा और आराम का एहसास होगा
बोरिस ने बताया कि यह बदलाव बस सोसायटी की जनसंख्या को ध्यान में रखना एक बड़ा कदम है, जो सड़क सुरक्षा का वादा करना सबसे जरूरी है। इससे बस में यात्रा करने वाले लोगों को सुविधा और आराम का एहसास होगा। साथ ही साथ बस स्टूडियो के दौरान उनकी दुकान भी बढ़ेगी।

अंतर्राष्ट्रीय मानक के अनुसार प्रोटोटाइप की गुणवत्ता में सुधार होगा
वृषभ देश में अंतिम संस्कार पर पहले से सवाल पूछते रहते हैं। वे बस बनाते हैं और ओईएम लगातार यह अपील करते हैं कि वे अंतरराष्ट्रीय मानकों के आधार पर गुणवत्ता में सुधार करें। इस बार इसी दिशा में काम होगा।

उनका मानना ​​है कि देश की ऑटो इंडस्ट्री में ओईएम के बराबर गुणवत्ता बढ़ाने का अच्छा मौका है, लेकिन उनका प्रदर्शन बहुत खराब है।

सड़क दुर्घटना में हर साल लाखों लोगों की मौत
यह पहली बार नहीं है जब बोनिटोरिया ने सड़क पर सवार होकर चिंता व्यक्त की है और उनके समाधान पर बात की है। इससे पहले, एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा था कि मैं चित्रकार मंत्री हूं, मुझे बड़ा दुख है कि हर साल देश में 5 लाख सड़क दुर्घटनाएं होती हैं, जिनमें डेढ लाख कलाकार शामिल हैं।

उन्होंने कहा था कि मैं अच्छा काम कर सका, लेकिन मैं इन सुविधाओं को कम नहीं कर सका। उन्होंने बताया कि इन सड़कों पर सबसे ज्यादा 18 से 34 साल के 60 फीसदी युवा मारे जाते हैं।

यह खबर भी पढ़ें…

गाड़ियों के लिए 6 एयरबैग अनिवार्य नहीं सरकार, मोरे बोले- प्रतियोगिता के लिए इसे अपनाएंगी

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री बोटी बैरा ने सरकारी वाहनों के लिए 6 एयरबैग अनिवार्य नहीं होने की घोषणा की है। सरकार ने पिछले साल कार में लोगों की सुरक्षा बढ़ाने के लिए 1 अक्टूबर से हर कार में 6 एयरबैग को अनिवार्य रूप से शुरू करने का प्रस्ताव रखा था। पूरी खबर पढ़ें…

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *